Famous Hindi Quotes by Mahatma Gandhi

Famous Hindi Quotes by Mahatma Gandhi

पृथ्वी सभी मनुष्यों की ज़रुरत पूरी करने के लिए पर्याप्त संसाधन प्रदान करती है, लेकिन लालच पूरी करने के लिए नहीं।

– महात्मा गांधी

सत्य कभी ऐसे कारण को क्षति नहीं पहुंचाता जो उचित हो।

– महात्मा गांधी

ऐसे जियो जैसे कि तुम कल मरने वाले हो। ऐसे सीखो की तुम हमेशा के लिए जीने वाले हो।

– महात्मा गांधी

अपने प्रयोजन में दृढ विश्वास रखने वाला एक सूक्ष्म शरीर इतिहास के रुख को बदल सकता है।

– महात्मा गांधी

एक देश की महानता और नैतिक प्रगति को इस बात से आँका जा सकता है

कि वहां जानवरों से कैसे व्यवहार किया जाता है।

– महात्मा गांधी

आप मानवता में विश्वास मत खोइए। मानवता सागर की तरह है;

अगर सागर की कुछ बूँदें गन्दी हैं, तो सागर गन्दा नहीं हो जाता।

– महात्मा गांधी

चिंता से अधिक कुछ और शरीर को इतना बर्बाद नहीं करता,

और वह जिसे ईश्वर में थोडा भी यकीन है उसे किसी भी चीज के बारे में चिंता करने पर शर्मिंदा होना चाहिए।

– महात्मा गांधी

जो भी चाहे अपनी अंतरात्मा की आवाज़ सुन सकता है। वह सबके भीतर है।

– महात्मा गांधी

अक्लमंद काम करने से पहले सोचता है और मूर्ख काम करने के बाद।

– महात्मा गांधी

 

ख़ुशी तब मिलेगी जब आप जो सोचते हैं, जो कहते हैं और जो करते हैं, सामंजस्य में हों।

– महात्मा गांधी

मौन सबसे शाशाक्त भाषण है. धीरे-धीरे दुनिया आपको सुनेगी।

– महात्मा गांधी

विश्व के सभी धर्म, भले ही और चीजों में अंतर रखते हों, लेकिन सभी इस बात पर एकमत हैं

कि दुनिया में कुछ नहीं बस सत्य जीवित रहता है।

– महात्मा गांधी

खुद को खोजने का सबसे अच्छा तरीका है, खुद को दूसरों की सेवा में खो दो।

– महात्मा गांधी

सत्य एक विशाल वृक्ष है, उसकी ज्यों-ज्यों सेवा की जाती है,

त्यों-त्यों उसमे अनेक फल आते हुए नजर आते है, उनका अंत ही नहीं होता।

– महात्मा गांधी

पुस्तकों का मूल्य रत्नों से भी अधिक है, क्योंकि पुस्तकें अन्तःकरण को उज्ज्वल करती हैं।

– महात्मा गांधी

मेरा धर्म सत्य और अहिंसा पर आधारित है। सत्य मेरा भगवान है,

अहिंसा उसे पाने का साधन।

-महात्मा गांधी

प्रार्थना मांगना नहीं है। यह आत्मा की लालसा है। यह हर रोज अपनी कमजोरियों की स्वीकारोक्ति है।

प्रार्थना में बिना वचनों के मन लगाना, वचन होते हुए मन न लगाने से बेहतर है।

– महात्मा गांधी

दुनिया में ऐसे लोग हैं, जो इतने भूखे हैं कि भगवान उन्हें किसी और

रूप में नहीं दिख सकता सिवाय रोटी के रूप में।

– महात्मा गांधी

भविष्य में क्या होगा, मैं यह नहीं सोचना चाहता।

मुझे वर्तमान की चिंता है।

ईश्वर ने मुझे आने वाले क्षणों पर कोई नियंत्रण नहीं दिया है।

-महात्मा गांधी

अपनी गलती को स्वीकारना झाडू लगाने के समान है,

जो धरातल की सतह को चमकदार और साफ कर देती है।

– महात्मा गांधी

केवल प्रसन्नता ही एकमात्र इत्र है जिसे आप दूसरों पर छिड़कें तो

उसकी कुछ बूंदें अवश्य ही आप पर भी पड़ती हैं।

– महात्मा गांधी

जो समय बचाते हैं, वे धन बचाते हैं और बचाया हुआ धन,

कमाए हुए धन के बराबर है।

– महात्मा गांधी

व्यक्ति अपने विचारों से निर्मित एक प्राणी है, वह जो सोचता है वही बन जाता है।

– महात्मा गांधी

कुछ लोग सफलता के केवल सपने देखते हैं जबकि अन्य व्यक्ति जागते हैं

और कड़ी मेहनत करते हैं।

– महात्मा गांधी

जिस दिन प्रेम की शक्ति, शक्ति के प्रति प्रेम पर हावी हो जाएगी,

दुनिया में अमन आ जाएगा।

– महात्मा गांधी

पाप से घृणा करो, पापी से प्रेम करो।

– महात्मा गांधी

जो भी चाहे अपनी अंतरात्मा की आवाज सुन सकता है। वह सबके भीतर है।

– महात्मा गांधी

जब तक गलती करने की स्वतंत्रता न हो, तब तक स्वतंत्रता का कोई अर्थ नहीं है।

– महात्मा गांधी

प्रेम की शक्ति दंड की शक्ति से हज़ार गुनी प्रभावशाली और स्थायी होती है।

– महात्मा गांधी

आप तब तक यह नहीं समझ पाते कि आपके लिए कौन महत्वपूर्ण है,

जब तक आप उन्हें वास्तव में खो नहीं देते।

– महात्मा गांधी

Share this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *