Famous Hindi Quotes by Helen Keller

Famous Hindi Quotes by Helen Keller

जब खुशी का एक दरवाज़ा बंद होता है तो दूसरा खुल जाता है

लेकिन हम अक्सर बंद दरवाजे की तरफ काफी देर तक देखते रहते हैं

और जो हमारे लिए खुला है उसको नहीं देखते।

-हेलेन केलेर

दुनिया की सबसे खूबसूरत चीजें ना ही देखी जा सकती हैं और ना ही छुई

उन्हें बस दिल से महसूस किया जा सकता है।

-हेलेन केलेर

अकेले कार्य कर हम बहुत कम हासिल कर सकते हैं, और साथ में बहुत ज़्यादा।

-हेलेन केलेर

मैं सिर्फ एक ही हूँ, लेकिन फिर भी मैं हूँ। मैं स्वयं हर चीज़ नहीं कर सकती लेकिन मैं स्वयं कुछ तो कर ही सकती हूं,

और केवल सिर्फ इस कारण कि मैं सबकुछ नहीं कर सकती

मैं उन कामों को करने से पीछे नहीं हटूंगी जिन्हें मैं कर सकती हूँ।

-हेलेन केलेर

शिक्षा का सबसे बेहतरीन और उत्तम ज्ञान हमें सहिष्णु होना सिखाना हैं।

-हेलेन केलेर

हम चरित्र का विकास बहुत आसानी से और जल्दी नहीं कर सकते। चरित्र का विकास तो केवल संघर्ष,

दुःख के अनुभव और लक्ष्य के प्रति संपूर्ण समर्पण से ही किया जा सकता है।

-हेलेन केलेर

जीवन या तो असाधारण घटनाओं से भरी हुई यात्रा है या कुछ भी नहीं!

-हेलेन केलेर

हम वह सबकुछ कर सकते हैं जिसे करने की हम इच्छा रखते हैं।

बस शर्त यह है कि जो करे उसमें तनमयता से लगे रहें।

-हेलेन केलेर

जीवन एक बहुत ही मज़ेदार है एवं यह तब और अधिक मज़ेदार बन जाता है जब आप इसे दूसरों के लिए जीते हैं।

-हेलेन केलेर

सहन या बर्दाश्त करने की आदत, मस्तिष्क द्वारा प्रदान किया हुआ सबसे अच्छा उपहार है।

क्योंकि इसे संतुलित बनाए रखने में उतना ही प्रयास करना पड़ता है, जितना अपने आप को एक साईकिल चलाते वक्त।

-हेलेन केलेर

मैं चाहती हूँ की मैं महान और अच्छे कार्यों को करूं, लेकिन मेरा परम कर्तव्य यह भी है

कि मैं छोटे कार्यों को भी ऐसे करूँ जैसे की वह महान और परोपकारी हो।

-हेलेन केलेर

हमारी सभी ज्ञानेंद्रियों में दृष्टि व देखने की क्षमता सबसे आनंदप्रद होनी चाहिए।

-हेलेन केलेर

मैं दिन के उजाले में अकेले चलने की तुलना में अंधेरी रात में एक दोस्त के साथ चलना ज़्यादा पसंद करूंगी।

-हेलेन केलेर

मृत्यु, एक कमरे से दूसरे कमरे में जाने से ज़्यादा कुछ नहीं है। लेकिन, जैसा की आप जानते हैं

मेरे लि यह बहुत बड़ा अंतर होगा, क्योंकि दूसरे कमरे में जाने से मेरी देखने की क्षमता वापस आ जाएगी।

-हेलेन केलेर

दुनिया का सबसे दयनीय मनुष्य वह है जिसके पास दृष्टि तो है लेकिन भविष्य के लिए कोई सोच या नज़रिया नही ।

-हेलेन केलेर

Share this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *