Yoga

योग और उसके फायदे

यस्मादृते न सिध्यति यज्ञो विपश्चितश्चन।स धीनां योगमिन्वति।।योग के बिना किसी विद्वान का कोई यज्ञकर्म सिद्ध नहीं हुआ है, योग व्यक्ति के कर्म में भी व्याप्त है।योग शब्द संस्कृत भाषा के युज शब्द से बना है जिसका मतलब है जुड़ना अथवा ब्रह्म में लीन होना।एकाग्र चित्त होकर की गई साधना जो हमारी आत्मा को परमात्मा...