सूर्य और शौर्य को दिखाने की आवश्यकता नहीं होती, दोनों अपने आप चमक जाते हैं।