सच्चाई और अच्छाई की तलाश में पूरी दुनियाँ घूम लें, अगर वो हमारे अंदर नहीं है तो कहीं नहीं है।

सच्चाई और अच्छाई की तलाश में पूरी दुनियाँ घूम लें, अगर वो हमारे अंदर नहीं है तो कहीं नहीं है।