लकीरों के भरोसे जीना छोड़ दिया । अब तो खुद पर भरोसा करता हूँ ।। काम छोटा हो या बड़ा हो । अब तो बस पूरी लगन से करता हूँ ।। सफलता मिले या ना मिले ।

लकीरों के भरोसे जीना छोड़ दिया । अब तो खुद पर भरोसा करता हूँ ।। काम छोटा हो या बड़ा हो । अब तो बस पूरी लगन से करता हूँ ।। सफलता मिले या ना मिले ।