मेरी ग़लतियाँ मुझसे कहो दूसरों से नहीं क्योंकि सुधरना मुझे है,उनको नहीं!