भाषा, ज्ञान और अनुभव किसी की बपौती नहीं। प्रतिभा का सम्मान उसकी योग्यता से होना चाहिए। धर्म, संप्रदाय से नहीं।।

भाषा, ज्ञान और अनुभव किसी की बपौती नहीं। प्रतिभा का सम्मान उसकी योग्यता से होना चाहिए। धर्म, संप्रदाय से नहीं।।