दुनिया का कोई भी इंसान सर्वगुण सम्पन्न नहीं होता, इसलिए कुछ कमियों को नज़र अंदाज़ करके रिश्ते अपनाना सीखिए ।

दुनिया का कोई भी इंसान सर्वगुण सम्पन्न नहीं होता, इसलिए कुछ कमियों को नज़र अंदाज़ करके रिश्ते अपनाना सीखिए ।