जो हमेशा परिणाम की चिंता करने में लगा रहता है, वह कभी भी सफलता को नहीं पा सकता।