माचिस की तीली का सिर होता है, किंतु दिमाग नहीं ,जो थोड़े से घर्षण से जल उठता है।