” जिस प्रकार जल अपना पूरा जीवन देकर वृक्ष का पालन पोषण करता है, शायद इसलिए जल कभी लकड़ी को डूबने नहीं देता। ठीक इसी प्रकार माता – पिता का स्वभाव होता है। “

” जिस प्रकार जल अपना पूरा जीवन देकर वृक्ष का पालन पोषण करता है, शायद इसलिए जल कभी लकड़ी को डूबने नहीं देता। ठीक इसी प्रकार माता – पिता का स्वभाव होता है। “