ज़िंदगी की हर सुबह कुछ शर्तें लेकर आती है, और ज़िंदगी की हर शाम कुछ तज़ुर्वे देकर ज़रूर जाती है।

ज़िंदगी की हर सुबह कुछ शर्तें लेकर आती है, और ज़िंदगी की हर शाम कुछ तज़ुर्वे देकर ज़रूर जाती है।