ज़िंदगी इतनी बढ़ी भी नहीं है कि ऐसे काम करने में खत्म कर दें जिसे आप नापसंद करते हो।

ज़िंदगी इतनी बढ़ी भी नहीं है कि ऐसे काम करने में खत्म कर दें जिसे आप नापसंद करते हो।