ज़िंदगी आसान नहीं होती, इसे आसान बनाना पड़ता है…कुछ ‘अंदाज़’ से, कुछ ‘नजर अंदाज़ ‘से!

ज़िंदगी आसान नहीं होती, इसे आसान बनाना पड़ता है…कुछ ‘अंदाज़’ से, कुछ ‘नजर अंदाज़ ‘से!