जन्नत भी फीकी है जहाँ मेरे देश का तिरंगा ना हो।