छुपे छुपे से रहते हैं सरे आम नहीं हुआ करते, कुछ रिश्ते बस एहसास होते हैं उनके नाम नहीं हुआ करते!

छुपे छुपे से रहते हैं सरे आम नहीं हुआ करते, कुछ रिश्ते बस एहसास होते हैं उनके नाम नहीं हुआ करते!