कुछ पाने के लिए कुछ खोना नहीं, बल्कि कुछ करना पढ़ता है।