कुछ देने के लिए हैसियत नहीं, नियत होनी चाहिए।