किसी से ईर्ष्या करके मनुष्य उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकता है, पर अपनी नींद और सुख चैन अवश्य खो देता है। शुभ रात्रि

किसी से ईर्ष्या करके मनुष्य उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकता है, पर अपनी नींद और सुख चैन अवश्य खो देता है। शुभ रात्रि