आपके चरित्र का पता तब चलता है जब आप पर दबाव पड़ता है।