इनर इंजीनियरिंग

इनर इंजीनियरिंग

इस भाग दौड़ भरी ज़िन्दगी में हम दूसरों को समय देते हुए खुद के लिए अक्सर समय निकालना भूल जाते हैं और बाद में पछतावे के सिवाय कुछ नहीं रह जाता , अक्सर ऐसा देखा जाता है कि लोग स्वयं को ही नहीं समझ पाते है और दूसरों को राय या परामर्श देते है ऐसे ही लोग स्पष्ट रूप में रायचंद भी कहे जाते हैं और ये सिर्फ कटाक्ष करने के लिए नहीं बल्कि एक चेतना जागृत करने के उद्देश्य से लिखना उचित लगा।

अब बात करते हैं थोड़े तकनीकी शब्दों की सहायता लेकर, इंजीनियरिंग का क्षेत्र अपने विषय में उसके प्रयोग को लेकर पढ़ाया जाता है ठीक उसी प्रकार इनर इंजीनियरिंग भी एक प्रकार का प्रयोग है जो शरीर को बिल्कुल अंदरूनी तरीक़े से जानने का एक बेहतरीन प्रयास है और इस प्रयास को सबसे पहले बताने का काम किया है आधुनिक गुरु सदगुरु ने ,जो वास्तव में शरीर की संरचना के मुताबिक उसके लिए बेहतर है उसे जानने का प्रयास है।

इनर इंजीनियरिंग के बहुतेरे फायदे हैं:

-आत्मा तक गहराई से पहुंचने का एक विकल्प है।

-शरीर की आवश्यकता को जानने का बेहतर प्रयास है।

-अवचेतन मन में से किसी बात को निकालने का प्रयास है।

हालांकि इन सभी फायदों से भी बढ़कर है मन की शांति और उससे मिलने वाली खुशियां जिसकी ज़रूरत हम सबको है,क्योंकि जीवन में मन की शांति से बढ़कर कुछ भी नहीं,हम चाहे कितना भी पैसा कमा लें लेकिन मन की शांति को कभी भी उन पैसों से खरीद नहीं सकते,दरअसल जीवन का उद्देश्य ही खुशियां हैं और यही उद्देश्य से मन की शांति संभव है, इसलिए ये ज़रूरी है कि हम बाह्य चीज़ों पर समय देने के 

बजाय अपने अंदर जागृति लाने के लिए समय दें और प्रेरणा का एक स्रोत बनें।

Share this post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *