Health & Diet Lifestyle

स्वस्थ शरीर ही है सबसे बड़ा खजाना!

स्वस्थ शरीर ही है सबसे बड़ा खजाना
“पहला सुख निरोगी काया”। हमेशा से सुनते आए हैं ना हम ये वाक्य? लेकिन आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में हम में से कितनों पर यह वाक्य सार्थक भी है? मेरे ख्याल में से कोई विरला ही होगा। वरना हम सभी किसी न किसी बीमारी से ग्रसित हैं। उच्च या निम्न रक्तचाप, मधुमेह, थायोराइड, मोटापा, बदहजमी, हृदयरोग आजकल जैसे आम बीमारी हो गई हैं। जिससे सुनो इन बीमारियों से घिरा हुआ है। ये रोग वृद्धावस्था में सुना करते थे वो भी कुछ को ही लेकिन आजकल तो 25 साल के युवा में भी ये रोग प्रवेश कर चुके हैं। इन सबका कारण है हमारी दिनचर्या और हमारा खान पान।
शारीरिक श्रम आज के समय में न के बराबर राह गया है। सारा काम मशीनों से होने लगा है, ऐसे में इंसान को मेहनत बहुत कम करनी पड़ती है। जो भी चाहिए सब कुछ ‘रेडी टू ईट’ मिलने लगा है। और हम सिर्फ पैसा कमाते हैं इसलिए घर में कुछ भी करना हमारे बस में नहीं होता। लेकिन इस आदत की कीमत हमें हमारे बुरे स्वास्थ्य से चुकानी पड़ती है।
क्योंकि पूरा दिन अपने ऑफिस में ढेर सारा मानसिक तनाव झेलने के बाद इतनी हिम्मत नहीं बचती कि आप घर आकर पौष्टिक आहार बना कर खाएं, आप कोई भी जंक फूड खाना पसंद करते हैं। लेकिन इन सबका खामियाजा कोई और नहीं बल्कि आपको ही भुगतना पड़ता है। माना के काम बहुत हैं लेकिन अपनी सेहत भी तो आपको ही देखनी होगी। क्योंकि अगर आप स्वस्थ नहीं होंगे तो काम कैसे कर पाएंगे, और जितना भी करेंगे उतना भी ठीक से नहीं कर पाएंगे और इस बात से आप झुंझलाहट और तनाव से भर जाएंगे। नतीजा न स्वास्थ्य ही ठीक रहेगा न काम ही होगा। इसलिए कुछ बातों का ध्यान रखें, समय का उचित प्रबंधन करें। अपनी दिनचर्या को बदल लें। आइए जानते हैं कैसे आप भागदौड़ वाली ज़िन्दग़ी में भी सेहतमंद बने रह सकते हैं।

1. सबसे पहले ध्यान रहे कि आपका भोजन संतुलित हो।

आपका भोजन संतुलित हो।

घी,तेल से बनी चीजें जैसे पूड़ी,पराँठे,छोले भठूरे,समोसे, कचौड़ी,जंक फ़ूड,चाय,कॉफी ,कोल्ड ड्रिंक का ज्यादा सेवन सेहत के लिए घातक है इनका अधिक मात्रा में नियमित सेवन ब्लड प्रेशर ,कोलेस्ट्रोल,मधुमेह,मोटापा एवं हार्ट डिजीज का कारण बनता है तथा पेट में गैस,अल्सर,ऐसीडिटी,बार बार दस्त लगना,लीवर ख़राब होना जैसी तकलीफें होने लगती हैं इनकी बजाय खाने में हरी सब्जियां,मौसमी,फल,दूध,दही,छाछ,

अंकुरित अनाज और सलाद को शामिल करें जो कि विटामिन,खनिज लवण,फाइबर, एवं अन्य पौष्टिक तत्वों से भरपूर होते हैं और शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं l
चीनी एवं नमक का अधिक मात्रा में सेवन ना करें,ये डायबिटीज,ब्लड प्रेशर,ह्रदय रोगों का कारण हैं l
बादाम,किशमिश,अंजीर,अखरोट आदि मेवा सेहत के लिए बहुत लाभकारी होते हैं इनका सेवन अवश्य करें।
पानी एवं अन्य तरल प्रदार्थ जैसे फलों का ताजा रस, दूध,दही,छाछ,नींबू पानी,नारियल पानी का खूब सेवन करें,इनसे शरीर में पानी की कमी नहीं हो पाती,शरीर की त्वचा एवं चेहरे पर चमक आती है,तथा शरीर की गंदगी पसीने और पेशाब के द्वारा बाहर निकल जाती है।
सुबह ऑफिस जाने से पहले एक पौष्टिक और सेहतमंद नाश्ता बहुत जरूरी होता है। ध्यान रहे सुबह का नाश्ता थोड़ा अच्छी मात्रा में और सुपाच्य हो ताकि आपको भरपूर ऊर्जा मिल सके। दिन के खाने में आप लस्सी जरूर शामिल करें, आपको तरोताजगी महसूस होगी। और दिन के खाने के बाद कुछ देर थोड़ा सा ही सही आराम अवश्य करें। खाना कौन बनाएगा या कब बनेगा ये आपको खुद को देखना होगा, सुबह जल्दी उठें, या कोई और उचित प्रबंध करें लेकिन सेहत से खिलवाड़ नहीं करें।

 2. दूसरी ध्यान रखने वाली बात है कि व्यायाम का नियमित अभ्यास करें।

व्यायाम का नियमित अभ्यास करें।

सूर्योदय से पहले उठकर सैर पर जाएं,हरी घास पर नंगे पैर घूमें,दौड़ लगाएंं।योगा,प्राणायाम करें,इन उपायों से शरीर से पसीना निकलता है,माँस पेशियों को ताकत मिलती है,शरीर में रक्त का संचार बढ़ता है,अनेक शारीरिक एवं मानसिक रोगों से बचाव होता है,पूरे दिन भर बदन में चुस्ती फुर्ती रहती है,भूख अच्छी लगती है इसलिए नियमित रूप से व्यायाम अवश्य करें। घर से बाहर जाना मुमकिन न हो तो घर की छत पर या खुले स्थान पर बैठ कर व्यायाम करें। लिफ्ट के बजाय सीढ़ियों का प्रयोग अधिक करें। अधिक दूरी न हो तो रिक्शा या अन्य साधन के बजाय पैदल चलें। सारा दिन इतने काम में व्यस्त रहने के कारण हो सकता है आपको घंटों व्यायाम करने का समय न मिले तो ये बताए गए तरीके भी कारगर साबित होंगे। ऑफिस में भी काम के बीच में 5 मिनिट का अंतराल लें और थोड़ा घूमें इससे आपको थकान से भी राहत मिलेगी और पूरा दिन बैठे रहने से जो अतिरिक्त फैट और पैर दर्द होता है उसमें भी लाभ मिलेगा।

3. इसके अलावा गहरी नींद भी बेहद जरूरी है।

गहरी नींद भी बेहद जरूरी है।

शरीर एवं मन को स्वस्थ रखने के लिए प्रतिदिन लगभग 7 घंटे की गहरी नींद एक वयस्क के लिए जरुरी है,लगातार नींद पूरी ना होना तथा बार बार नींद खुलना,अनेक बीमारियों का कारण बनता हैl
अच्छी नींद के लिए ये उपाय करें-
 सोने का कमरा साफ सुथरा,शांत एवं एकांत में होना चाहिए।
रात को अधिकतम 10-11 बजे तक सो जाना और सुबह 5-6 बजे तक उठ जाना स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है।सोने से पहले शवासन करने से अच्छी नींद आती है।
खाना सोने से 2-3 घंटे पहले कर लेना चाहिए एवं शाम को खाना खाने के बाद 20-25 मिनट अवश्य घूमें l

4.चिंता मुक्त रहें।

चिंता मुक्त रहें।

रोजमर्रा की जिंदगी में आने वाली समस्यों के लिए चिंतन करना सही है लेकिन चिंता करना नहीं। लगातार अनावश्यक चिंता जीते जी शरीर को जला देती है इसलिए तनाव होने पर भाई,बंधू एवं विश्वास पात्र मित्रों से सलाह मश्वरा करें यदि समस्या फिर भी ना सुलझे तो विशेषज्ञ से राय लें l

5. नशे से रहें दूर।

नशे से रहें दूर।

आजकल युवा पीढ़ी के लिए कोई सबसे खतरनाक बीमारी है तो वो है नशे का जाल।  शराब,धूम्रपान,तम्बाकू ये सब सेहत के दुश्मन हैं,किसी भी स्थिति में नशे की लत से बचें,यदि नशे से बचे हुए हैं तो बहुत अच्छा किन्तु,यदि कोई नशा करते हैं तो जितनी जल्दी नशे से दुरी बना लें उतना ही अच्छा है।ये ऐसी बीमारी है जो कैंसर और एड्स से भी ज्यादा खतरनाक है और एकसाथ कई परिवारों को बर्बाद करती है तथा शारीरिक,मानसिक,आर्थिक एवं सामाजिक प्रतिष्ठा के नाश का कारण बनती है,इसलिए नशे से बचना ही बेहतर उपाय है।
 सेहत है तो सब कुछ है। स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ दिमाग का वास होता है। स्वास्थ्य है तो आप सब करने में समर्थ हैं, लेकिन बीमारी से ग्रसित रहे तो उम्र से पहले वृद्ध दिखेंगे और साथ ही साथ अवसाद ग्रस्त भी हो जाएंगे। इसलिए स्वास्थ्य के ऊपर बताये हुए नियमों का पालन अवश्य करें। क्योंकि स्वस्थ शरीर ही है सबसे बड़ा खजाना।

About the author

Nisha Shekhawat Adhikari

B.sc.(math)
MBA( HR & marketing)
She has participated in various functions as a speaker.
Content or blog writer by passion. She had written few blogs in DNA newspaper Jaipur and Some articles for college magazines.

Leave a Comment