Motivation

समस्या आने के फायदे!

समस्या आने के फायदे!




आप सोच रहे होंगे कि समस्या के भी फायदे हो सकते हैं क्या? समस्या तो है ही समस्या उसे कौन पसंद करता है जो फायदे की सोचेगा कोई? आपका कहना भी सर्वथा उचित है कि समस्या तो आखिर समस्या ही है, जिसे हर कोई अपने जीवन से दूर ही रखना चाहता है। कौन होगा ऐसा की समस्या को अपने पास बुलाता हो? लेकिन फिर भी हम सुनते रहते हैं कि “समस्या आने पर ही अपने पराये की पहचान होती है; एक सच्चा मित्र वही होता है जो मुसीबत के समय काम आए; फलां समस्या न आती तो मैं तो जीवन में कुछ बन ही नहीं पाता; वो तो मुसीबत आन पड़ी सर पर तो आँख खुली और दुनियादारी समझ आई।”
अब ये सब बातें थोड़ी उलझाने वाली सी नहीं लग रही आपको? मुझे तो इन बातों में समस्या कोई मुसीबत नहीं बल्कि एक आशीर्वाद से प्रतीत हो रही हैं, जो जीवन के मायने समझा रही हैं।
देखिए हर सिक्के के दो पहलू होते हैं या ये भी कह सकते हैं कि नजरिया जैसा वैसा ही सब प्रतीत होता है। हो सकता है आप सिक्के का सिर्फ एक पहलू ही देख पा रहे हों और दूसरा अभी ओझल हो आपकी आंखों से। जहाँ तक मेरा अनुभव है मैंने मुसीबतों से हमेशा सीख ली है कि जीवन में अब क्या किया जाए आगे बढ़ने के लिए। आपमें से भी कई अनुभव कर चुके होंगे कि जितनी समस्याओं का आपने सामना किया होगा, उतने ही आप मजबूत बने होंगे। थोड़ा सा नजरिया बदलते ही हम महसूस करेंगे कि समस्या ही हमारे लिए एक अवसर बन जाती है। यह हम पर निर्भर है कि हम समस्या को जीत कर नए आयाम खोजते हैं या फिर उनसे डर कर, हार कर बैठ जाते हैं।
आइए थोड़ी सी विस्तृत चर्चा करते हैं समस्याओं से होने वाले फायदों की, जो शायद हम जान कर भी अनजान होंगे।

1. समस्याएं सफलता पाने के नए आयाम खोल देती हैं। कैसे?

कभी-कभी हमारे जीवन में ऐसी समस्याएं आती हैं जिसकी वजह से सफलता पाने के जिस रास्ते पर हम चल रहे होते हैं, वह रास्ता बंद हो जाता है और हम परेशान हो जाते हैं। लेकिन सच यह है कि जब कोई मुसीबत किसी रास्ते को बंद कर देती है तो वह दूसरा रास्ता भी जरूर खोल देती है। यह दूसरा रास्ता भी आपको अपनी मंजिल तक पहुँचा सकता है या कहें कि शायद यही दूसरा रास्ता है जो वास्तव में आपको सही मंजिल तक पहुँचायेगा।
आपको व्हाट्सएप के संस्थापक जेन कौम और ब्रायन ऐक्टन का ध्यान तो होगा ही। इन्होंने फेसबुक में नौकरी पानी चाही थी, लेकिन इन्हें जॉब पर नहीं रखा गया।
अब इस समस्या ने उनके सामने एक नया रास्ता खोल दिया और वह रास्ता था, व्हाट्सएप; जिसको बाद में फेसबुक ने 19 अरब डॉलर में खरीदा और अब वो लोग अरबपति बन गए। अब अगर ये दोनों भी मनचाही जॉब नहीं मिलने को एक बड़ी समस्या मान कर हार मान लेते तो आज वो व्हाट्सएप जैसी मशहूर हुई एप को नहीं बना पाते। लेकिन इन्होंने इस समस्या से नया रास्ता खोज निकाला और एक ऊंचाइयों को छू सके।

2. समस्याएं हमें सही रास्ते की और भी के जाती हैं।

समस्याएं हमें सही रास्ते की और भी के जाती हैं।

अक्सर समस्या के आने का एक बहुत बड़ा फायदा यह भी होता है कि वह हमें बताती हैं कि हम गलत रास्ते पर जा रहे हैं। होता यह है कि गलत रास्ते से कभी सही मंजिल प्राप्त नहीं की जा सकती, तो जब कोई सफलता प्राप्त करने के लिए गलत रास्ते पर चलता है तो अनेकों समस्याएं उसे घेर लेती हैं, तब यही समस्याएं हमें बताती हैं कि अपनाया गया रास्ता गलत है।
अब हम दूसरे रास्ते को अपनाते हैं जो सही होता है जिसकी वजह से हम अपनी मंजिल प्राप्त कर लेते हैं।
जैसे कुछ लोग व्यस्तता भरी दिनचर्या की वजह से अपना जीवन इस तरह से बना लेते हैं कि वह अपने स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं देते, लेकिन जब उन्हें स्वास्थ्य से जुड़ी समस्या हो जाती है तब यही समस्या उन्हें सही रास्ते पर ले आती हैं क्योकि अब उन्हें अपनी सेहत सही रखनी होती है।
अगर सेहत न खराब होती तो वो ,”ज़िंदगी जैसे चल रही है चलने दो” वाली तर्ज पर ही रहते और सेहत की तरफ कभी ध्यान ही नहीं दे पाते। तो कभी कभी समस्याएं सही मार्ग भी दिखा जाती हैं।

3. समस्याएं हमारे अंदर छुपी प्रतिभा को भी बाहर लाने में मदद करती हैं।

हमारे अंदर बहुत सी ऐसी प्रतिभाएं या योग्ताएं होती हैं जिनके बारे में हमें पता तक नहीं होता। लेकिन समस्या का एक फायदा यह भी है कि यह हमारी छुपी योग्यता को बाहर ला देती है। कभी- कभी कुछ ऐसी समस्याएं हमारे सामने आ जाती हैं जिनका सामना करते समय हमारा कोई अनदेखा हुनर बाहर आ जाता है और बाद में हम सोचते हैं कि “वाह! मेरे अंदर भी इतनी अच्छी काबिलियत थी।”
उदाहरण से समझे तो एक बार एक लड़का एक बहुत बड़ी कंपनी में काम करता था, एक दिन अपने काम से लौटते समय उसका एक्सीडेंट हो जाता है, लोग उसे अस्पताल ले जाते हैं। डॉक्टर उसे अस्पताल में ही एक महीने का बेड रेस्ट करने को कहते हैं। इसी एक महीने में वह कुछ कहानियाँ और कविताएं लिखता है। बाद में उसे कोई बताता है कि उसके द्वारा लिखी गयीं कहानियां और कविताएं बहुत अच्छी हैं। उस समय उसे विश्वास नहीं होता कि उसके अंदर एक लेखक भी छिपा हुआ था।
तो इस तरह से उसकी लेखक बनने की छुपी हुई प्रतिभा केवल और केवल समस्या की वजह से बाहर आ सकी।

4. समस्याएं हमें बहुत कुछ अच्छा सीखने का मौका देती हैं।

हर किसी की ज़िंदगी में समस्याएं आती हैं और हर कोई इंसान इन आने वाली सस्मयाओं से कोई न कोई सबक जरूर सीख सकता है।
अक्सर ये समस्याएं ही हमें यह बताती हैं कि हमारे कार्य करने का कौन सा तरीका सही है और कौन सा तरीका सही नहीं है, ये हमें बताती हैं कि कौन सा रिश्ता हमारे लिए अच्छा है और कौन सा अच्छा नहीं है। हमारे जीवन में आने वाली प्रत्येक समस्या हमें कुछ न कुछ सीखने के लिए बाध्य करती है।
 एक दुकानदार ने अपनी दुकान पर हर तरीके का अच्छा और गुणवत्ता वाला सामान रखा लेकिन उसके खराब व्यवहार के कारण वहां बहुत कम ग्राहक आते थे। यह बात उस दुकान पर काम करने वाला नौकर बहुत ध्यान रखता था।
उसने इस समस्या से सीखा कि यदि ग्राहक से अच्छा बर्ताव न किया जाये तो चाहें हम कितना भी बढ़िया सामान रख लें, ग्राहक आना पसंद नहीं करता। बाद में यही लड़का एक बहुत बड़ा व्यापारी बना। समस्याएं हमें हमेशा कुछ न कुछ सिखाती ही हैं, वो चाहे हमारे जीवन मे आएं या हमारे किसी परिचित व्यक्ति के जीवन में। हम समस्या को समझ कर उससे सबका सीख सकते हैं और आगे बढ़ सकते हैं।




5. समस्याएं हमारे आत्मविश्वास और साहस को बढ़ाती हैं।

जब भी समस्याएं हमारे जीवन में आती हैं तो वह हमें परेशान करती हैं, हमें अंदर से तोड़ती हैं, हमें बहुत कुछ करने को मजबूर करती हैं लेकिन इतना सब कुछ होने के बाद जब हम सीना तानकर उसका सामना करते रहते हैं, ऐसा करते समय यदि समस्या थोड़ी सी भी कम होती है तो हमारा साहस बढ़ जाता है, हमारा आत्मविश्वास बढ़ जाता है जिसके कारण हम उस समस्या का और अच्छी तरह से सामना करते हैं और उसे अपने जीवन से दूर भगा देते हैं।
अब समस्या के दूर भागते ही हमारा आत्मविश्वास कई गुना और बढ़ जाता है और आगे भविष्य में आने वाली समस्याओं का सामना करने का साहस भी हमारे अंदर बहुत बढ़ जाता है।
जैसे मान लीजिए कि आपको अपने व्यापार में बहुत बड़ा नुकसान हुआ जिससे आप बुरी तरह टूट गये, आपने सोच लिया कि अब आप कुछ नहीं कर सकते और न ही एक रुपया कमा सकते हैं।लेकिन एक दिन आपने निश्चय किया कि आप इस परिस्थिति का सामना करेंगे।
इस समस्या से निकलने के लिए आपने एक जगह नौकरी कर ली, जब पहली तनख्वाह मिली तो आपने सोचा जब मैं इतना पैसा कमा सकता हूँ तो अपना व्यापार भी एक बार फिर से खड़ा कर सकता हूँ। अब यहाँ आपका आत्मविश्वाश बढ़ गया है और हिम्मत भी बढ़ गई हैं।अब जैसे-जैसे आपका व्यापार अच्छा होता जाएगा, आपका आत्मविश्वास और साहस भी बढ़ता जाएगा।
और देखते ही देखते आप वो हासिल कर लेंगे जो पहले व्यापार में नहीं कर पाए थे। देखिए समस्या तो जो थी वो है ही, बदला है तो सिर्फ आपका नजरिया लेकिन ये हिम्मत, विश्वास आये तभी जब समस्या आई, वरना हम तो निश्चिन्त होकर लगे रहते हैं अपने हर रोज के काम में।
तो देखा आपने किस तरह से आप समस्याओं से भी कितना कुछ सीख सकते हैं और सफल हो सकते हैं। सफलता मिलने का असली आनंद ही तब आता है जब आप उसकी सही कीमत चुकाते हैं। जब बाधाओं और मुशीबतों को पार करके आप कोई मुकाम हासिल करते हो तो वो मुकाम स्थाई भी होता है और आप उसमें हमेशा ही आगे बढते हैं। तो समस्याओं से घबराएं नहीं बल्कि उनसे सीखें और आगे बढ़े।

About the author

Nisha Shekhawat Adhikari

B.sc.(math)
MBA( HR & marketing)
She has participated in various functions as a speaker.
Content or blog writer by passion. She had written few blogs in DNA newspaper Jaipur and Some articles for college magazines.

2 Comments

Leave a Comment