#merasuvichar Motivation

कैसे बनाएं अपनी thinking positive , कैसी thoughts से बदलेगा आपका जीवन?

कैसी thoughts से बदलेगा आपका जीवन?
आज के इस लेख में हम बात करेंगे positive thoughts की। कैसे एक विचार हमारा जीवन बदलने में सक्षम होता है, कैसे  positive thoughts, हमारा जीवन भी सकारात्मकता से भर देती है! जैसी सोच  होती है, वैसा ही संसार बन जाता है हमारा। positive thinking हमारे पूरी life को बदलने में सहायक सिद्ध होती है।

Aaj ka vichar (thought of the day)सुविचार

 हम इस बात को एक छोटे से उदाहरण के द्वारा समझ सकते हैं। ये आपने कई बार सुना भी होगा।
एक आधा गिलास का पानी। आपकी सोच इसे क्या से क्या बना देती है। आप अगर positive thought रखने वालों में से हैं तो आप उसे पानी से आधा भरा गिलास कहेंगे, अगर आपके जीवन में निराशा का भाव ज्यादा है तो आप उसे आधा खाली गिलास कहेंगे और अगर आप बेहद आशावादी हैं तो आप कहेंगे पानी से आधे भरे इस गिलास को मुझे पूरा भरना है। देखिए एक thought एक विचार जीवन को देखने का नजरिया ही बदल देती है। देखिए जीवन में जो भी कुछ घटित होता है वह सिर्फ और सिर्फ हमारी सोच के कारण होता है। positive thought होगी तो जीवन में सब कुछ अच्छा ही होगा और अगर thinking ही पूरी तरह negative है तो जीवन में कुछ अच्छे होने की उम्मीद करना भी बेमानी होगा।
Positive thinking रखना एक विकल्प है। आप ऐसे विचार सोच सकते हैं या मन में ला सकते हैं जो आपके खुश कर देते हैं, जो कठिन परिस्थितियों से बाहर निकलने के लिए रोशनी की राह दिखाएं, और आपके जीवन में खुशियों के रंग भर दें। जो कार्य हम कर रहे हैं, उसमें सफल होने के लिए उम्मीद भरा दृष्टिकोण प्रदान करें। जीवन के प्रति positive thought रखने से, आप अपने मन को नकारात्मक सोच के दायरे से बाहर लाने की शुरूआत कर सकते हैं और आप देखेंगे की आपका जीवन परेशानी और बाधाओं के बजाय संभावना और उपाय से भर जाएगा। ये वास्तव में ब्रह्मांड का नियम है कि आप जो उसे दोगे वही बदले में आपको मिलेगा।
आप अच्छा सोचोगे, positive thinking रखोगे तो आपको बदले में ब्रह्मांड या universe से सकारात्मकता और खुशियां ही मिलेंगी। इसके विपरीत यदि आपने अपनी सोच को नकारात्मक ऊर्जा से भर लिया है तो आप ब्रह्मांड को वही ऊर्जा प्रेषित कर रहे हो और बदले में आपको जीवन में दुःख, तकलीफ और परेशानियों से ही जुझना पड़ता है। इसलिए जरूरी है कि आप स्वयं को भी positive thoughts से भरा रखें, आपके दिमाग में अच्छे विचार, good thoughts आने दें।

उसके लिए आप कुछ तरीके अपना सकते हैं जैसे:-

1. अच्छी चीजों को अपनाएं और बुरी चीजों से पूरी तरीकों से दूर रहें।
2. अपने कार्य को करने में बिना कारण देरी न करें। समय कभी लौट कर नहीं आता, ये ध्यान में रखें।
3. अपने जीवन को हमेशा दुःखी मन से देखने के बजाय हमेशा अपने जीवन और भगवान का धन्वाद करें,जिसने आपको इस धरती पर कुछ अच्छा करने के लिए भेजा है।
4. हमेशा जीवन में कुछ भी सिखने का मौका ढूंढे क्योंकि एक अच्छा छात्र ही एक अच्छा गुरु बन सकता है परन्तु उस ज्ञान का अमल या उपयोग होना बहुत जरूरी है।
5. नकारात्मक ऊर्जा और बुरी चीजों से पूरी तरीके से दूर रहें। शराब, सिगरेट तथा नशीली दवाइयों का सेवन न करें।
positive thoughts

6. सुबह सुबह उठकर आईने में देखें और ये खुद से बातें करते हुए ये सब करें:-

    मुस्कुराओ, आज मेरा दिन है।
    मैं जानता हूँ, मैं जहाँ भी हूँ वो मेरे लिए सबसे बेहतर है।
    मैं जानता हूँ मैं एक विजेता हूँ।
    – मेरी जिम्मेदारी सिर्फ और सिर्फ मेरी है।
    भगवान हमेशा मेरे साथ हैं, मैं जो चाहता हूँ, मैं कर सकता हूँ।
  ये सब सिर्फ रटने से कुछ नहीं होगा लेकिन आत्मविश्वास के साथ हर सुबह ये स्वयं को याद दिलाने से आपमें एक ऊर्जा का संचार होगा और वो ऊर्जा ही आपकी positive thoughts की शुरूवात होगी।
7. आपको अपने रवैये के प्रति जिम्मेदारी लेनी होगी। आपके विचार आपके ही चुने हुए हैं। कोई और आपकी सोच को नहीं बदल सकता।जीवन के प्रति दृष्टिकोण आप खुद चुन सकते हैं।

 8. Positive thoughts रखने के फायदों के बारे में जानने का प्रयास करें:

 positive thinking रखने से आपको न केवल अपने जीवन को नियंत्रित रखने में मदद मिलती है, बल्कि अपने रोजमर्रा के अनुभवों को भी आप ज्यादा सुखद बना पाते हैं, और इसके अलावा आपको अपने मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में भी मदद मिलती है। positive thought रखने के कुछ फायदे हैं:-
  -आपकी आयु में वृद्धि होना, उदासी और परेशानी कम होना।
  – बेहतर मानसिक और शारीरिक स्थिति।
  – तनाव की स्थिति में उससे बेहतर तरीके से निपटने की क्षमता रखना।
   – कोई भी रिश्ता बनाने में और उसे मजबूती से कायम रखने में प्राकृतिक क्षमता होना।

9. अपने विचार दर्शाने के लिए एक डायरी अपने पास रखे:

अपने विचारों को डायरी में लिखने से, आप फिर से एक बार अपनी सोच पर विचार करके, उनके तरीकों में बदलाव लाने में सक्षम हो सकते हैं। अपने विचारों और भावनाओं को लिखिए और good और bad thoughts के कारणों को जानने की कोशिश करें। दिन के अंत में 20 मिनट का समय निकालकर अपने लिखे हुए thoughts को पढ़ने से आपको नकारात्मक विचारों को पहचानने में मदद मिल सकती है और आप उन negative thoughts को positive और good thoughts में बदल सकते हैं। ध्यान रखें कि अपने डायरी में लिखे गए विचारों को आंकने के लिए खुद को समय और अवसर दें। अगर आप अपने विचार रोज लिखते हैं, तो सप्ताह के अंत में अपने लिखे गए विचारों को आप आंक सकते हैं।

thought of the day

 10. मन में अपने आप आने  वाली नकारात्मक सोच को पहचानें:

नकारात्मक विचार जो आपको हमेशा पीछे खिंचने लगते हैं, उन्हें positive thoughts से बदलने के लिए, आपको “अपने आप आने वाले नकारात्मक सोच“ के बारे में जागरूक होने की जरूरत है। जब आप इन विचारों को पहचान जाएंगे, तो आप उन्हें चुनौती दे सकते हैं और इन विचारों को अपने दिमाग से बाहर निकाल सकते हैं।
 ये थे कुछ तरीके जिनके जरिये आप अपनी सोच को positive thinking में बदल सकते हैं, और good thoughts के साथ जीवन को एक positive way में आगे बढ़ा सकते हैं।
Positive thoughts के बारे में बहुत सारी बातें कही गईं हैं जो हम जीवन में अपना लेवें तो ज़िंदगी बेहद खुशनुमा हो जाएगी।
आइए कुछ good thoughts को हम साझा करते हैं आप सबसे!

सुविचार :-

दुनिया में केवल एक ही इंसान आपकी तकदीर बदल सकता है, और वो हैं आप।
अगर हम positive कार्य करना चाहते हैं तो जरूरी है कि हम अपना नजरिया भी positive रखें।
उनके लिए हमेशा फूल मौजूद होते हैं जो हमेशा फूल देखना चाहते हैं।
अगर आप आपदाओं के बारे में सोचोगे तो वह आ जाएँगी। अगर आप मृत्यु के बारे में गंभीरता से सोचते हो तो आप अपने मौत की ओर बढ़ने लगते हो। जब आप सकारात्मक और स्वेच्छा से सोचोगे, तब विश्वास और निष्ठा के साथ आपका जीवन सुरक्षित हो जायेगा।
निराशावादी को हर अवसर में मुश्किलें दिखाई देती है वही आशावादी को मुश्किलों में अवसर दिखाई देता है।
सकारात्मक नजरिया आपकी सभी समस्याओं को हल नहीं कर सकता लेकिन यह लोगों को हिलाने के लिए काफी होता है।
तुमने इसे पहले किया हुआ है और अभी भी तुम इसे कर सकते हो। अपनी निराशा वाली ऊर्जा की दिशा को सकारात्मक, प्रभावी और दृढ निश्चय की ओर मोड़ दो।
यह सोचने के बजाय कि आप क्या खो रहे हो? यह सोचने की कोशिश करें कि आपके पास क्या है और लोग खो रहे हैं।
एक बार जब आप नकारात्मक विचारों को सकारात्मक विचारों में बदल देते हो, तब आपको सकारात्मक नतीजे मिलने शुरू हो जाते हैं।
positive thinking
हमारी positive thinking, positive communicationऔर positive कार्यों का असर हमें सफलता की ओर अग्रसर करते हैं।वहीं निराशा तथा नकारात्मक संवाद व्यक्ति को अवसाद में ले जाते हैं क्योंकि विचारों में बहुत शक्ति होती है। हम क्या सोचते हैं, इस बात का हमारे जीवन पर बहुत गहरा असर होता है। इसीलिए अक्सर निराशा के क्षणों में मनोवैज्ञानिक भी सकारात्मक संवाद एवं सकारात्मक कहानियों को पढने की सलाह देते हैं। हमारे positive thoughts ही मन में उपजे निराशा के अंधकार को दूर करके आशाओं के द्वार खोलते हैं।
विवेकानंद जी कहते थे, “हम वो हैं जो हमारी सोच ने हमें बनाया है, इसलिए इस बात का ध्यान रखिये कि आप क्या सोचते हैं। शब्द गौंण हैं, विचार दूर तक यात्रा करते हैं।”
20वीं सदी के महानतम राजनेताओं में से एक ब्रिटेन के प्रधानमंत्री चर्चिल बचपन में हकलाते थे, जिसके कारण उनके सहपाठी उन्हे बहुत चिढाया करते थे। अपनी हकलाहट के बावजूद चर्चिल ने बचपन में ही positive thoughts को अपनाया और मन में प्रण किया कि, मैं एक दिन अच्छा वक्ता बनुंगा। उनके आशावादी विचारों ने विपरीत परिस्थिति में भी उन्हें कामयाबी की ओर अग्रसर किया।  राजनीति के अलावा उनका साहित्य में भी योगदान रहा। इतिहास, राजनीति और सैन्य अभियानों पर लिखी उनकी किताबों की वजह से उन्हे 1953 में साहित्य का नोबेल पुरस्कार प्राप्त हुआ। ये सब उपलब्धियां उनकी positive thinking का ही परिणाम था।
प्रिय पाठकों, यदि हम ये सोचें कि, हम कुछ भी कर पाने में सक्षम हैं, चाहे वो हमारी सोच हो या जीवन या हमारे सपने सब सच हो सकते हैं। हम इस अंनत ब्रह्माण्ड की तरह अनंत संभावनाओं से परिपूर्ण हैं। तो ऐसी positive और good thoughts को जीवन में अपनाने से हमारे जीवन में सार्थक और सफल परिवर्तन संभव हो सकेगा। तो आज से ही जीवन में negative विचारों को त्याग दें और positive thoughts को जगह दें।
कैसा लगा आपको ये ब्लॉग हमसे share करना ना भूलें।

धन्यवाद!

About the author

Nisha Shekhawat Adhikari

B.sc.(math)
MBA( HR & marketing)
She has participated in various functions as a speaker.
Content or blog writer by passion. She had written few blogs in DNA newspaper Jaipur and Some articles for college magazines.

Leave a Comment